इस एपिसोड में, युवराज को पुलिस द्वारा अपराधी के रूप में नहीं, बल्कि सम्मानित अतिथि के रूप में पुलिस स्टेशन में लाया जाता है।

युवराज अबिला को चिढ़ाता है और उससे वादा करता है कि वह लंबे समय तक जेल में नहीं रहेगा।

जगराज पुलिस स्टेशन आता है और अक्षरा को जान से मारने की धमकी देता है, जिससे उनके बीच तनाव बढ़ता है।

अबीरा  जगराज की धमकी से डर जाती है और अक्षरा की ओर देखती है, जिसे जगराज और अबिला की बातचीत के बारे में पता नहीं होता। 

इस बीच, अरमान रूही के साथ अपनी पहली डेट की तैयारी में व्यस्त है, जो उन्हें प्रपोज करने वाली है।

अरमान का दिल रूही के प्रपोजल के लिए धड़कता है, लेकिन उसे जिम्मेदारी से बचना चाहिए यह सोचते हुए कि यह पहली बार है।

अरमान को रूही के साथ अपनी डेट की तैयारी में रहते हुए सांजी का फोन आता है, जो उसे जिम्मेदारी से बचने की सलाह देती है।

जगराज और अबिला की बातचीत से अक्षरा को पता नहीं होती है, जो इस समस्या का सामना कर रही हैं।

अबिला, जगराज की धमकी से बचने के लिए सजगता से उत्तर देती है और अक्षरा की मदद करने का निर्णय लेती है।

अरमान, सांजी की सलाह के बाद, अपनी डेट की तैयारी में जुटा हुआ है और जिम्मेदारी से बचने के साथ-साथ रूही के साथ समय बिताने का निर्णय लेता है।