आज के एपिसोड में "ये रिश्ता क्या कहलाता है" का संवाद रोहित के रोने और खुद से बात करने से शुरू होता है।

रोहित का दुखभरा मूड प्रतीत होता है जब वह फिर से सामान्य नहीं हो सकता होने का ख्याल करता है।

रूही अरमान से कहती है कि किसी भी चीज या किसी से डरने की जरूरत नहीं है, परंतु उसकी सलाह को खारिज कर देती है।

अरमान रूही से कहता है कि उनके भाई की खुशी से बढ़कर कुछ भी नहीं है, लेकिन रूही उसको स्पष्ट रूप से खारिज कर देती है।

रूही ने खुद को एक दर्शक बताया है और उसका दम घोंट दिखाती है, जिससे अरमान को क्रोधित महसूस होता है।

अरमान का खेद आता है क्योंकि उसकी उम्मीदें टूट जाती हैं और उसे खुद से ठगा हुआ महसूस होता है।

रूही रोहित से मिलने जाती है, जो नज़रें मिलाने से इनकार करता है।

जब वह रोहित के कंधे पर अपना हाथ रखती है, तो रोहित घृणा से कांप उठता है।

अरमान फुसफुसाता है कि उसकी सोच के अनुसार अरमान कभी वैसा नहीं होगा जैसा उसने सोचा था।