अभिमन्यु और अक्षरा की मुलाकात: एपिसोड की शुरुआत में अभिमन्यु अक्षरा के चेहरे को देखते हैं और उससे पूछते हैं कि क्या वह ठीक है।

अक्षरा की घबराहट के कारण: अक्षरा उसे बताती है कि उसे डांस के लिए घबराहट महसूस हो रही है, क्योंकि नृत्य गुरु और उसके बेटे ने उसे कठिनाइयों में डाल दिया है।

अभिमन्यु का गुस्सा: अभिमन्यु अक्षरा की ओर गुस्से में है और उसे यह दोष देते हैं कि वह अभीर को अपने बेट के तरीके से नहीं देखती है।

अक्षरा की हँसी: अक्षरा मीठे मीठे मुस्कराती है जब वह अभिमन्यु की तारीके से अभीर के गुण और दोषों का मजाक उड़ाती है।

नृत्य का महत्व: अभिमन्यु अक्षरा को बताते हैं कि उन्हें नृत्य के बारे में घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है क्योंकि यह उनकी शादी है और वे जैसे चाहें, वैसे ही नृत्य कर सकते हैं।

चॉकलेट की प्रस्तुति: अभिमन्यु अक्षरा को चॉकलेट प्रस्तुत करते हैं ताकि वह आराम से महसूस करें।

अक्षरा का इनकार: अक्षरा चॉकलेट को इनकार करती है और उसे दैहिक उत्पादों से उल्टी होती है।

अभिमन्यु का समर्थन: अभिमन्यु अक्षरा के साथ है और वह उसकी तंगी को समझते हैं, उसे आराम देने की कोशिश कर रहे हैं।

अभिमन्यु का मिलनसर सुझाव: अभिमन्यु अक्षरा को सुझाते हैं कि वे नृत्य में खुद को खो दें, क्योंकि यह उनकी शादी है और वे अपने तरीके से मनोरंजन कर सकते हैं।

मीठी मुस्कान: अक्षरा की मीठी मुस्कान दिखती है, जिससे उसके और अभिमन्यु के बीच की मित्रता की मिसाल मिलती है।