मंजरी की सलाह: मंजरी ने अक्षरा से कहा कि वह कुछ खाएं, ताकि मेहंदी लगाने के बाद वह बिना कमजोरी के रह सके।

नवरात्रि उपवास: अक्षरा ने बताया कि वह नवरात्रि के लिए उपवास कर रही है, जिसके बावजूद उसने उपवास रखा है।

अभिमन्यु की चिंता: अभिमन्यु चिंतित हो जाते हैं और अक्षरा से पूछते हैं कि वह उपवास क्यों रखी है, जब उसका दिन कठिन हो सकता है और वह कमजोरी के कारण बेहोश हो सकती है।

विशेष मेहंदी: स्वर्णा ने सभी को बताया कि वे अक्षरा के लिए विशेष मेहंदी लेकर आए हैं।

मोर पंखों का उपयोग: मेहंदी लगाने के लिए पूराने समय की तरह मोर पंखों का उपयोग किया जाएगा।

रोमांटिक यादें: मोर पंखों का जिक्र करने से अभिमन्यु और अक्षरा के बीच कई रोमांटिक पलों की यादें ताजगी से आती है।

अजीब महसूस: अभिमन्यु और अक्षरा अपने हाथों को देखकर अपने आप को थोड़ी अजीब महसूस करते हैं।

अभीर और रुही: अभीर और रुही अभिमन्यु और अक्षरा के हाथों पर मेहंदी लगाते हैं।

दिलचस्प घटनाएँ: इस घटनाक्रम में हुए विभिन्न दिलचस्प पलों को दर्शाया गया।