अनुपमा और अनुज की शादी को रोकने के लिए अध्या को किसी भी हद तक जाने का इरादा है।

जीके के आते ही, अनुज की जिद्दीता बढ़ जाएगी, जिससे अध्या की हालत और भी खराब होगी।

अनुपमा अनुज के साथ है, जो अध्या को और गुस्सा दिलाएगा।

अध्या श्रुति और अनुपमा के बीच झगड़े को बढ़ावा देती है, जो स्थिति को और भी गंभीर बना देता है।

श्रुति के बड़े फैसले से उसकी खुद की हालत पर असर पड़ेगा, जिससे वह भी खतरे में पड़ सकती है।

अध्या का निराशा और खिन्नता बढ़ेगा, जिससे वह अपने आपको हानि पहुंचा सकती है।

आद्या अनुपमा के पक्ष में नहीं है और इससे स्थिति में और भी उलझन होगी।

श्रुति का अधिकतर कदम बड़ा होने से उसकी स्थिति और भी कठिन हो सकती है।

अनुपमा को आद्या को समझाने और संधि बनाने का मुश्किल काम होगा।