अनुज और सोनू के बीच टकराव: एपिसोड की शुरुआत में अनुज को सोनू के अवैध आचरण को दबाने की कोशिशों से उत्तेजित होने का सामना करना पड़ता है।

वनराज की चेतावनी: वनराज इस स्थिति को देखते हैं और अनुज की दृढ निगाहों को सोनू और उसके साथियों पर जाते हैं, जबकि वह अनुज को इसमें शामिल नहीं होने के संकेत करते हैं।

अनुज के मौरल्स और सिद्धांत: अनुज थोड़ी सी हां में सिर हिलाते हैं, लेकिन उनके मौरल्स और सिद्धांत उन्हें किसी की बेहद मदद की आवश्यकता होने पर इस स्थिति को नजरअंदाज नहीं करने देते हैं।

पाखी की अच्छानकी उलझन: अनुपमा देखती है कि पाखी के मनोबल में कैसे गिरावट आ गई है जब उसे बताया जाता है कि वह मां बनने के लिए बहुत छोटी है।

हस्मुख की उत्कृष्ट नजर: हस्मुख भी अनुज के अद्भुत व्यक्तिगत रिएक्शन को देखते हैं और जानने का प्रश्न करते हैं कि क्या हुआ है, जबकि अनुज कहते हैं कि किसी की छेड़ाई जा रही है, तो वह समय नहीं बिता सकते।

सोनू पर अनुज की प्रतिक्रिया: अनुज अचानक सोनू पर उतरते हैं, कहते हैं कि वह जो कुछ भी कर रहा है, वह बंद कर देना चाहिए, वरना उसकी हड्डियाँ टूट सकती हैं।

अनुपमा का ध्यान: अनुपमा को इस घटना की तरफ ध्यान जाता है, जिसमें पाखी के मनोबल में गिरावट आ गई है।

वनराज की चेतावनी: वनराज यह बयान करते हैं कि किसी की छेड़ाई की जानकारी होती है तो वह उसमें समील नहीं होने के संकेत देते हैं।

हस्मुख के प्रश्न: हस्मुख पूछते हैं कि क्या हुआ है, जबकि अनुज कहते हैं कि किसी की बेहद मदद की आवश्यकता है, तो वह बेबेक नहीं बैठ सकते।

सोनू के खिलवाड़ी पर अनुज की चोट: अनुज ने अचानक सोनू पर हमला किया, कहते हैं कि वह जो कुछ भी कर रहा है, वह बंद कर देना चाहिए, वरना उसकी हड्डियाँ टूट जाएंगी।