आज के एपिसोड में, अनुपमा को एक तेज़ अलार्म से झटका लगता है, जिससे वह बहुत डर जाती है।

अनुपमा कान बंद करके सोचती है कि क्या उसने कुछ गलत किया है, जिससे वह डराई जा रही है।

रेस्तरां के मालिक अनुपमा के कमरे में प्रवेश करते हैं और उन्हें मूर्तियों के सामने लौ जलाते हुए पाते हैं, जिससे अनुपमा चौंक जाती है।

अनुपमा कहती है कि वह सिर्फ गणपति बप्पा के सामने एक दीया जलाना चाहती थी, लेकिन फिर भी अचानक फायर अलार्म बज जाता है।

रेस्तरां मालिक की टिप्पणी पर अनुपमा को पछतावा होता है कि उसने बिना सोचे-समझे ऐसा क्यों किया।

मालिक को अग्निशमन विभाग से कॉल आती है, जिसमें पुष्टि होती है कि अलार्म गलत बजा था।

मालिक अग्निशमन विभाग से माफी मांगता है और अनुपमा से भी क्षमा प्राप्त करता है।

अनुपमा बताती है कि उसे पछतावा है कि उसने बिना सोचे-समझे ऐसा किया।

मालिक टिप्पणी करता है कि अनुपमा ने पहले ही रेस्तरां की सफाई कर दी है और सब कुछ साफ-सुथरा दिख रहा है।

इस घटना से अनुपमा को एक सीख मिलती है कि सोच-समझकर कार्रवाई करना महत्वपूर्ण है।