शाह के घर की यात्रा: एपिसोड अनुपमा और अनुज द्वारा वनराज की हालत देखने और सोनू के बारे में खबर देने के लिए शाह के घर जाने के फैसले से शुरू होता है.

वनराज की अच्छी तबीयत: शाह के घर पहुँचकर अनुपमा और अनुज को पता चलता है कि वनराज ठीक है, जो सुरक्षित होने के लिए अच्छी खबर है.

लीला और वनराज की मुलाकात: वनराज और लीला टीवी देखते हैं, लेकिन वनराज उन्हें रुकने के लिए कहता है और समाचार सुनते हैं.

सुरेश की टिप्पणी: झूठे आरोपों के बारे में सुरेश की टिप्पणी सुनकर, वनराज क्रोधित हो जाता है.

वनराज का प्रतिशपथ: वनराज कहता है कि वह सुरेश को सबक सिखाएगा.

अनुपमा और अनुज का पीछा: अनुपमा और अनुज वनराज का पीछा करते हैं.

सुरेश के स्वामित्व वाली इमारत: अंततः, वनराज, अनुपमा, और अनुज सुरेश राठौड़ के स्वामित्व वाली एक नई इमारत के उद्घाटन पर पहुंचते हैं.

वनराज की धमकी: वनराज कहता है कि अगर सुरेश अपनी कार में अपराध स्थल पर जाएगा और उसका सामना करेगा, तो वह सुरेश राठौड़ की सारी संपत्ति जला देगा.

सुरेश की बात: सुरेश कहता है कि उनके बेटे को जेल भेजे जाने के बावजूद उनका समर वापस नहीं आया है, इसलिए उन्हें अपना मामला वापस ले लेना चाहिए.