Radha Mohan 4 August 2023 Written Update : रिश्तों का जादू और प्रेम का सफर

आज के Radha Mohan 4 August 2023 Written Update : इस लेखित अपडेट में, हम राधा मोहन शो के किरदारों के बीच के जटिल भावनाओं और उनके बीच गहरे संबंधों को भी हम देखते हैं। तुलसी का निश्चय है कि वह राधा और मोहन को पुनः मिलाने के लिए प्रयास करेगी ताकि वे अपने आनेवाले विवाह को रोक सकें। इस बीच, गुंगुन ने मोहन के प्रति अपनी गुस्सा व्यक्त कीया है क्योंकि उन्होंने राधा के साथ बहुत नाइंसाफी की। घटनाएं आगे बढ़ते हैं, हम देखते हैं कि हर चरित्र को इस प्रेम और परिवार के बंधनों भरे किस्से में किसी न किसी संघर्ष का सामना तो करना ही पड़ता है।

राधा और मोहन को फिर से जोड़ने की कोशिश(Radha Mohan 4 August 2023 Written Update)

तुलसी बताने लगती है कि दामिनी सोचती है कि उसने राधा और मोहन को मोहन के जीवन से बहुत दूर भगा दिया है, लेकिन उसे नहीं पता है कि उसने राधा मोहन को मिला दिया है, इसलिए वे मिलकर इस शादी को रोकने के लिए मिलकर काम करना चाहती है। तुलसी बताती है कि मेरी जिंदगी की तो सबसे बड़ी गलती थी इस घर को छोड़ देना, वह उस दिन को भी याद करती है जब उसने घर को छोड़ा था। तुलसी बताती है कि सब कुछ खराब हो गया था जब वह चली गई थी, लेकिन इस बार ऐसा बिलकुल कुछ नहीं होगा। तुलसी को यह सोचते हुए कि उसे राधा से मिलने के लिए उसे कैसे आना होगा, वह अब तक तो सिर्फ बिहारी जी के रास्ते पर ही रखा है।

फिर रमेश्वर आकर बताते हैं कि रिक्शा तो कब का आ गया है, दादी राधा को पकड़ती हैं और कहती हैं कि अब यहाँ से जाना चाहिए, राधा तो बस चुपचाप जा रही है। मोहन गुंगुन के सामने घुटने टेकने लगती है, वह उसको छूने की कोशिश करता है, लेकिन वह उसे वही रोक देती है और कहती है कि राधा ने कभी उसके साथ कुछ ग़लत नहीं किया, उसने हमेशा उसके भले भविष्य के लिए ही किया था और यह भी स्वीकार किया था कि वह उससे प्यार करती है, फिर भी उसने उसे घर से बाहर निकाल दिया था।

सब देख कर गुंगुन बहुत ख़फ़ा हो जाती है, वह एक बार फिर कहने को है, “मैं तुमसे नफ़रत करती हूँ”, लेकिन फिर रुक जाती है और समझाती है कि वह उसे अपने नाम से नहीं बुलाएगी क्योंकि यह राधा का ही तो अपमान होगा, वह कहती है कि अब यह मोहन की बात है कि वह दामिनी से शादी करें या फिर ज़िन्दगी भर अकेले ही रहें, लेकिन उसे तो यह मालूम है कि जिस तरह उसने राधा को फेंका था, वैसे ही एक दिन दामिनी भी उसको अपनी ज़िन्दगी से निकाल देगी। कवेरी फिसकते हुए कहती है कि गुंगुन ने दामिनी को बहुत अच्छी तरह से समझ लिया है, जब दामिनी उसे जवाब देती है कि वह उसकी बेटी बनने वाली है। गुंगुन बताती है कि अगर वह दामिनी से शादी करता है तो कोई भी उसका दोस्त नहीं रहेगा, इसे अच्छे से सोचना चाहिए क्योंकि अब वह इस शादी में शामिल भी नहीं होगी।

Conclusion

इस “राधा मोहन सीरियल” शो का यह प्रेम और परिवार के बंधनों से भरा किस्सा एक रोमांचक धारावाहिक है। तुलसी की निरंतर प्रयासों से हम देखते हैं कि कैसे उन्होंने राधा और मोहन को पुनः मिलाने के लिए अपने संघर्षों का सामना करने की प्रयास करती है। गुंगुन के माध्यम से हमें यह बात स्पष्ट हो जाती है कि प्रेम में तो जुबान बाज़ार नहीं होती और कितनी महत्वपूर्ण है परिवार के साथी का समर्थन और समझ। इस पोस्ट का संक्षेप में निष्कर्ष है कि प्रेम, समर्थन, और समझ से जीवन के मुश्किल समयों का सामना किया जा सकता है और परिवार के साथ इसमें एक-दूसरे का सहारा भी पाया जा सकता है।

FAQ

राधा मोहन सीरियल कितने बजे आता है?

राधा मोहन सीरियल जी टीवी पर हर रोज रात 8 बजे आता हैं।

अन्य पढ़े –

Leave a Comment

... ...